यूपीः मोदीजी के बनारस और योगी जी के गोरखपुर में मिल रहा भरपूर मीट


Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

नई दिल्ली। योगी आदित्यनाथ के यूपी का कार्यभार संभालते ही अवैध बूचड़खाने बंद कराए जा रहे हैं। साथ ही चिकन और मटन की दुकानें भी बंद कराई जा रही हैं। हालात ये हो रहे हैं कि यूपी में लोग मीट के लिए तरस रहे हैं वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी की नई सड़क पर मोहम्मद मिराज की मटन की दुकान पर मीट हड़ताल का कोई असर नहीं है। मोहम्मद मिराज की दुकान पहले की तरह चल रही है। मिराज की दुकान पर मीट खरीदने वाले ग्राहक खासी संख्या में मौजूद रहते हैं।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, यही हाल यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के गोरखपुर का है। वाराणसी से करीब 100 किमी दूर गोरखपुर में चिकन मटन खाने वालों को कोई किल्लत नहीं हो रही है। गोरखपुर में नवरात्र से एक दिन पहले अब्दुल्लाह कुरैशी की मटन शॉप पर ग्राहकों का तांता लगा रहा और सोमवार को अब्दुल्लाह की दुकान पर मटन की बंपर बिक्री हुई।

ऐसे समय में जब पूरे सूबे में मीट कारोबारी बेमियादी हड़ताल पर हैं वहीं वाराणसी और गोरखपुर में मीट हड़ताल का कोई असर नहीं है। दोनों शहरों में बफेलो मीट छोड़ कर बाकी मटन, चिकन और अंडों की कोई कमी नहीं है।

मटन शॉप के मालिक मोहम्मद मिराज कहते हैं, “मुझे पता है कि मीट विक्रेता लखनऊ में हड़ताल पर हैं, अवैध बूचड़खानों के खिलाफ की गई कार्रवाई से बूचड़खाने प्रभावित हुए हैं लेकिन मीट की दुकानों पर कोई असर नहीं पड़ा है, इसीलिए हमने दुकान खोली है।” वहीं चिकन बेचने वाले रेवारी तालाब एरिया के मोहम्मद अंसारी ने कहा, “हमने कुछ घंटे दुकान बंद रखी, दोपहर बाद फिर खोल दी।”

पांडेयपुर एरिया में अंडा विक्रेता पिंटू सोनकर ने कहा, “अवैध बूचड़खानों पर की गई कार्रवाई का असर मीट कारोबार पर बिल्कुल नहीं है, जो अवैध है उनके खिलाफ कार्रवाई की गई है, हमारी दुकान पर ग्राहक पहले की तरह आ रहे हैं न तो ग्राहकों की संख्या में गिरावट आई है और न ही इनकी संख्या में इजाफा हुआ है।”


Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

log in

reset password

Back to
log in